परीक्षाएँ रद्द करवाने को लेकर पूजा वर्मा ने उच्च शिक्षा मंत्री को सौंपा ज्ञापन, छात्र भूख हड़ताल पर

देखा गया

सबसे ज्यादा परेशानी ग्रामीण छात्रों को-- पूजा वर्मा



मीडिया केसरी वेब डेस्क ✍🏻




जयपुर-04जुलाई। विश्वविद्यालय की शेष परीक्षाओं के आयोजन को लेकर अभी तक असमंजस की स्थिति बनी हुई है।
जहाँ एक ओर राजस्थान विश्वविद्यालय का कहना है कि उसकी ओर से परीक्षाओं के आयोजन की पूर्ण तैयारी है तो वहीं दूसरी ओर विद्यार्थियों, छात्र नेताओं व अभिभावकों का कहना है कि यह फैसला छात्र हित में नहीं है। विद्यार्थी इस समय परीक्षाएँ देने के बिल्कुल भी मूड में नहीं हैं।
 इसी संबंध में राजस्थान विश्वविद्यालय छात्रसंघ की अध्यक्ष पूजा वर्मा ने शनिवार को राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी को ज्ञापन सौंपा।



ज्ञापन में शेष बची परीक्षाएँ रद्द करने व विद्यार्थियों को अगली कक्षा में क्रमोन्नत करने की माँग की गई है।
 पूजा वर्मा ने ज्ञापन में लिखा है कि  शहर के अलावा आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों से भी छात्र-छात्राएं परीक्षाएँ देने आते है। कोरोना के चलते पहले ही परिवहन के समुचित साधन उपलब्ध नहीं हैं,ऐसे में छात्र- छात्राओं को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। इतना ही नहीं परीक्षाओं के दौरान शहर में रहने की भी समस्याएँ आएंगी।


  Sehar Stylish Pink Big Hoop Earrings for Women and Girls

पूजा वर्मा ने उम्मीद जताई है कि सरकार छात्र हित में फैसला लेगी।

  इधर परीक्षाएँ रद्द करवाने को लेकर NSUI के छात्र कार्यकर्ता भूख हड़ताल पर हैं।



 NSUI के प्रदेश प्रवक्ता रमेश कुमार भाटी ने बताया कि एनएसयूआई पिछले चार दिनों से राजस्थान विश्वविद्यालय कुलपति सचिवालय पर धरना दे रही  थी। यह धरना शनिवार को अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल में तब्दील हो गया।
भाटी ने बताया कि राहुल मीणा, आमिर खान शेखावाटी,रोहिताश मीणा, धर्मवीर लाम्बा और सोनू बैरवा भूख हड़ताल पर बैठे हैं।
छात्रसंघ अध्यक्ष पूजा वर्मा भी धरने में शामिल हुईं।

Post a comment

0 Comments