Jodhpur News- India ने खोया एक और Desert Scorpion, भारतीय सेना के कमांडो द्वारा तखत सागर जलाशय में अभ्यास के दौरान पानी मे कूदा कैप्टन अंकित गुप्ता लापता, ANI ने ट्वीट के ज़रिए की मौत की पुष्टि

देखा गया

अभ्यास के दौरान हेलिकॉप्टर से जलाशय में कूदे 4 कमांडो; 3 निकले,कैप्टन लापता

विशेष रूप से रेगिस्तान के लिए दी जाती है ट्रेनिंग


मीडिया केसरी डिजिटल डेस्क✍🏻


जोधपुर(राजस्थान)-7 जनवरी।गुरुवार को शहर के जलाशय तखत सागर पर भारतीय सेना के कमांडो की तरफ से अभ्यास किया जा रहा था, इसी दौरान एक बड़ी दुर्घटना घटी गई।सेना की कमांडो यूनिट-10 पैरा स्पेशल फोर्स (एसएफ) के कुछ जवान गुरुवार को हेलिकॉप्टर से नीचे उतर अभ्यास कर रहे थे। इस दौरान 4 जवान हेलिकॉप्टर से पानी में कूदे। 3 जवान तो बाहर निकल आए, लेकिन चौथा कमांडो कैप्टन अंकित गुप्ता पानी के भीतर ही रह गया। उसकी तलाश के लिए सेना ने तखत सागर से सटे पूरे क्षेत्र को सील कर तलाश अभियान  चलाया लेकिन देर शाम तक भी उनका पता नहीं चल पाया।



सैन्य सूत्रों का कहना है कि 10 पैरा के कुछ कमांडो अपने नियमित अभ्यास के रूप में तखत सागर जलाशय में अभ्यास कर रहे थे। इस दौरान उन्हें पानी में कूद हमला बोलने का अभ्यास कराया जा रहा था। इस दौरान आज गुरुवार को एक हेलिकॉप्टर से एक साथ 4 जवान पानी के भीतर कूदे। उनमें से 3 जवान थोड़ी देर में तैरकर बाहर निकल आए। लेकिन, चौथा जवान कैप्टन अंकित गुप्ता बाहर नहीं आया। उसके बाहर नहीं आने से हड़कंप मच गया। 



वहां अभ्यास करा रहे जवानों ने अपने मुख्यालय को सूचित किया। इस पर सेना की कई टीम मौके पर पहुंच गई और खोज अभियान शुरू किया। मौके पर बड़ी संख्या में सैनिक नजर आ रहे हैं। सेना ने पूरे क्षेत्र को सील कर रखा है। यहां तक कि पुलिस को भी बाहर ही रोक दिया गया। सेना अपने स्तर पर ही जवान को तखत सागर में तलाश कर रही है। फिलहाल जवान के बारे में कुछ भी पता नहीं चल पाया है।


इस बीच ANI ने एक ट्विट के ज़रिए कैप्टन अंकित गुप्ता की मौत हो जाने की पुष्टि की है।


An officer from Indian Army’s Special Forces unit lost his life while practising specialist operations in the Kaylana lake near Jodhpur city of Rajasthan. The officer had jumped into the lake from a helicopter.


— ANI (@ANI) January 7, 2021



https://twitter.com/ANI/status/1347176310838185985?s=19


तखत सागर जलाशय से जोधुपर में पानी की सप्लाई की जाती है। यह लिफ्ट नहर से जुड़ा हुआ है। 61 फीट गहरे इस जलाशय में वर्तमान में 46 फीट तक पानी भरा हुआ है। फिलहाल, लापता कैप्टन के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पा रही है।

आपको बता दें कि सेना की स्पेशल फोर्स में कमांडो बनना इतना आसान नहीं है।यह दुनिया की सबसे कठिन चयन प्रतियोगिताओं में से एक है। इन्हें विशेष रूप से रेगिस्तान के लिए ट्रेनिंग दी जाती है।

इस तरह के कमांडो का उपयोग सर्जिकल स्ट्राइक जैसे हमले बोलने में किया जाता है।

Post a comment

0 Comments