BREAKING NEWS -- अवैध बजरी खनन के दौरान खाई में रेत ढहने से दो मज़दूरों की मौत ! आखिर कब रुकेगा यह सिलसिला ?

देखा गया

पूर्व विधायक मीणा ने जिला सरकार पर राजनीतिक संरक्षण देने का लगाया आरोप


किशनगंज तहसील के दौलतपुरा गाँव के थे दोनों मज़दूर


बारां/ हरीश शर्मा 


किशनगंज-30 मई। तहसील के करवरी ग्राम पंचायत के समीप अवैध बजरी खनन करते वक्त खान में खुदाई करते हुए खाई में रेत ढहने से दो सहरिया युवकों की मौत हो गई।
 ये दोनों मृतक स्वास ग्राम पंचायत के दौलतपुरा गांव के  निवासी थे।
पुलिस मृतक रामजीलाल पुत्र ओमप्रकाश सहरिया व सुरेंद्र पुत्र राम प्रसाद  जाति सहरिया श्रमिकों के शवों को किशनगंज चिकित्सालय में पोस्टमार्टम के लिए लेकर पहुंची। मृतकों के साथ उनके परिजन भी किशनगंज चिकित्सालय पहुँचे।


मृतक के जीजा ने बताया कि मृतक बंदर पुरा निवासी एक व्यक्ति के यहां मजदूरी कर रहे थे। मजदूरी के दौरान वे बजरी निकालने का कार्य करते थे।


 इस हादसे की सूचना मिलते ही किशनगंज के पूर्व विधायक ललित मीणा भी चिकित्सालय पहुंचे और  मृतकों परिजनों से जानकारी ली।

शाहबाद विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक मीणा ने खनन विभाग व वन विभाग की मिलीभगत के साथ क्षेत्र में अवैध खनन को राजनीतिक संरक्षण देने का जिले की सरकार पर भी आरोप लगाया।
उन्होंने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख मुआवजा दिलवाने व बंधुआ मजदूरी करवाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की पुलिस से मांग की।

Post a comment

0 Comments