उत्तराखंड काँग्रेस ने शिव मोहन मिश्रा जैसा "समर्पित योद्धा' खोया, पार्टी के सभी कार्यक्रम एक सप्ताह तक स्थगित

देखा गया

ऋषिकेश महानगर कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष शिव मोहन मिश्रा का कोरोना से निधन, पार्टी में शोक की लहर



मीडिया केसरी वेबडेस्क ✍🏻



ऋषिकेश- 20 सितंबर। ऋषिकेश महानगर कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष शिव मोहन मिश्रा (48 वर्ष) का शनिवार की सुबह अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में निधन हो गया। कुछ दिन पूर्व तबीयत खराब होने पर उन्हें एम्स में भर्ती किया गया था। जहां उनकी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। बाद में उनकी हालत बिगड़ती गई, उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। बाद में उनकी कोविड रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। शनिवार की सुबह उनका निधन हो गया।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने शिव मोहन मिश्रा के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि दिवंगत शिव मोहन मिश्रा व उनका पूरा परिवार कई पीढ़ियों से कांग्रेस के लिए समर्पित था और दिवंगत शिव मोहन मिश्रा के स्वर्गीय पिता कमल नारायण मिश्रा पार्टी के वरिष्ठ नेता रहे। 




उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने आगामी एक सप्ताह तक पार्टी के सभी सार्वजनिक कार्यक्रम स्थगित कर दिए हैं। प्रीतम सिंह ने राज्य में कोरोना संक्रमण के लगातार तेज़ी से फैलने व इसके कारण हो रही मौतों पर दुख व चिंता व्यक्त करते हुए आगामी एक सप्ताह तक पार्टी के सभी सार्वजनिक कार्यक्रम धरने प्रदर्शन स्थगित करने की घोषणा की।


मिश्रा के निधन पर उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शोक व्यक्त करते हुए लिखा है- "ऋषिकेश नगर कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष शिव मोहन मिश्रा  कोरोना संक्रमण से लड़ते हुये जिंदगी की जंग हार गये, उनके निधन का समाचार सुनकर मुझे अत्यंत दु:ख हुआ, उनका जाना ऋषिकेश कांग्रेस के लिये अपूरणीय क्षति है। मैं, शिव_मोहन_मिश्रा  को अपने श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूँ व उनके कुटुंबीजनों तक अपनी संवेदनाएं प्रेषित करता  हूँ। भगवान, उनकी आत्मा को शांति एवं परिजनों को इस असहनीय दु:ख को सहने की शक्ति प्रदान करें।   ॐ शांति।"


सूर्यकांत धस्माना ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष ने शिव मोहन मिश्रा की मृत्यु व राज्य में कोरोना संक्रमण के हालातों पर प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव से भी बातचीत की व उनको स्थितियों से अवगत करवाया। धस्माना ने बताया कि प्रदेश प्रभारी का आगामी बाइस व तेईस सितंबर का उत्तराखंड आगमन का कार्यक्रम भी स्थगित हो गया है। धस्माना ने बताया कि अब आगामी 23 सितंबर को विधानसभा के समक्ष होने वाला धरना भी स्थगित कर दिया गया है।



 


Post a comment

0 Comments