BARAN NEWS-बारां नगर परिषद चुनाव में जीत के लिए पहली बार ट्रांसजेंडर प्रत्याशी ने ठोकी ताल, चुनाव बना रोचक

देखा गया

जीती तो जनता की सेवा कर मिसाल बनकर दिखाऊंगी- खुशबू आंटी

कांग्रेस पार्टी के टिकट पर लड़ रही चुनाव



बारां से संवाददाता कुँवर पाल  ✍🏻


बारां (राजस्थान)-6 दिसंबर। जिले के चुनावी इतिहास में पहली बार कोई ट्रांसजेंडर प्रत्याशी चुनावी मैदान में  उतरी है। 

 11 दिसंबर को आयोजित होने वाले नगर परिषद के चुनाव में शहर के वार्ड नंबर 43 से एक किन्नर प्रत्याशी भी अपना भाग्य आजमा रही है। हालांकि बारां नगर परिषद क्षैत्र में दो तथा अंता नगर पालिका क्षेत्र में दो किन्नर मतदाता सूची में अंकित है। वहीं जिले में कुल 9 किन्नर मतदाता सूची में अंकित है।


उल्लेखनीय है कि जिले में किसी भी तरह के चुनाव में आज दिन तक कोई किन्नर प्रत्याशी चुनावी मैदान में नहीं उतरा है। यह पहला अवसर है जब  नगर परिषद चुनाव में एक किन्नर प्रत्याशी ने जीत के लिए ताल ठोकी है। इसी को लेकर शहर का वार्ड नंबर 43 रोचक बना हुआ है। 



किन्नर प्रत्याशी खुशबू आंटी को कांग्रेस ने अपने टिकट पर चुनाव मैदान में उतारा है। कांग्रेस पार्टी के जिला महामंत्री कैलाश जैन ने बताया कि खुशबू आंटी ने चुनाव लड़ने के लिए टिकट मांगा था। जिस पर चुनाव संचालन समिति ने विचार करते हुए वार्ड नंबर 43 से टिकट दिया है। और उम्मीद जताई है कि जीत अवश्य ही हासिल होगीं। 


वही दूसरी ओर वार्ड नंबर 43 की कांग्रेसी प्रत्याशी खुशबू आंटी से पूछने पर की आपको चुनाव में भाग लेने की क्यों सूझी। इस पर उन्होंने बताया कि काफी समय से दिल में जनता की सेवा करने की जिज्ञासा थी। मैं कोई वादा नहीं करती हूं। लेकिन मैं अपनी कसौटी पर खरी उतरूगीं। मैं पांच साल में एक मिसाल बनकर जनता को दिखाऊंगी जिसे जनता याद करें।


खुशबू आंटी से जब पूछा कि आपने कांग्रेस से ही टिकट क्यों लिया, भाजपा से क्यों नहीं मांगा तो उन्होंने बताया कि हारना जीतना सब नसीब का खेल है। सत्रह अट्ठारह साल की उम्र से ही कांग्रेस की विचारधारा मन में थी। इसलिए कांग्रेस से ही टिकट मांगा। उन्होंने कहा कि वार्ड की हालत खराब है। नाली पटान जैसी सुविधा भी लोगों को मुहैया नहीं हो रही है। हालांकि इस वार्ड क्षेत्र से पूर्व में भी कांग्रेस के प्रत्याशी मनोज बाटला विजय रहे थे।

Post a comment

0 Comments