Mumbai Crime News- पुलिस के हत्थे चढ़ी "VIP लेडी थीफ", विभिन्न शहरों की हवाई यात्रा कर करती थी चोरी

देखा गया

पेशे से ऑकेस्ट्रा गर्ल, चोरी कर बन गई करोड़पति


83 हज़ार का 'आई फ़ोन' व नकदी बरामद



मीडिया केसरी संवाददाता- सारा पुरी ✍🏻


मुंबई-17 दिसंबर। मुम्बई पुलिस ने बुधवार देर रात एक ऐसी महिला चोर को गिरफ्तार किया है जो बहुत ही हाई प्रोफाइल तरीके से चोरी की वारदात को अंजाम देती थी।

 प्राप्त जानकारी के अनुसार 46 साल की मुनमुन हुसैन पेशे से ऑर्केस्ट्रा गर्ल है, लेकिन उसकी कमाई का असली ज़रिया चोरी है। इस चोरी के जरिए पिछले कुछ सालों में वह करोड़पति बन गई। 

सीनियर इंस्पेक्टर जगदीश साइल और योगेश चव्हाण की टीम ने उसे दो दिन पहले बेंगलुरु से गिरफ्तार किया है।

जिस केस में वह पकड़ी गई, वह लोअर परेल के फिनिक्स मॉल का है। इस संबंध में करीब डेढ़ साल पहले एक महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। महिला के परिवार में शादी थी। वह बैंक के लॉकर से करीब 13 लाख रुपये कीमत के गहने निकाल कर और उसे एक बैग में रखकर लाई थी। बैग में कुछ कैश भी था। महिला को फिनिक्स मॉल में कुछ कपड़े खरीदने थे। उसने वह बैग कुछ देर के लिए अपने बेटे को दिया था। बेटे के पास किसी को फोन आया। उसने वह बैग नीचे रख दिया और बातचीत में व्यस्त हो गई। इस बात का फायदा उठाते हुए मुनमुन ने बैग उठाया और वह वहां से गायब हो गई।


इस वारदात के कुछ दिनों पहले दादर के शिवाजी पार्क में भी इसी मोडस ऑपरेंडी से चोरी हुई थी। जब क्राइम ब्रांच ने दोनों जगह के सीसीटीवी फुटेज देखे, तो दोनों जगह एक ही महिला दिखाई दी। तभी से पुलिस को उसकी तलाश थी। दो दिन पहले मुनमुन के बेंगलुरु में होने की टिप मिली, तो उसे वहां से ट्रेस किया गया। अब तक की जांच में देश के अलग-अलग शहरों में उसके खिलाफ 9 मामले सामने आए हैं। सभी केसों में उसने 10 से 20 लाख रुपये की चोरी की है।

वह वहां के मॉल एवं ब्यूटी पार्लर में चोरी की वारदात को अंजाम देती थी। उसके पास से 13 लाख 54 हजार 212 रुपए की ज्वेलरी, 50 हजार रुपए नगद और 83 हजार रुपए का आई फोन जब्त किया है। 


Amazon Wardrobe Refresh Sale: Up to 80% off on footwear by Puma, Adidas & more

अपना मनपसंद चुनकर ऑर्डर करने के लिए नीचे दी गई Image पर क्लिक करें --




पुलिस उपायुक्त क्राइम के मार्गदर्शन में प्रभारी पुलिस निरीक्षक साईल,योगेश चव्हाण,सुरेखा जौंजाल, महेंद्र पाटिल,अमोल माली एवं बंडगर की टीम ने उस मामले की जांच शुरू की है। पुलिस ने फिनिक्स मोल के सीसीटीवी को खंगाला तो उसमे एक संदिग्ध महिला दिखाई दी। जब उनकी छानबीन की गई तो पता चाला की बेंगलुरु की रहे वाली है।

 पुलिस का कहना है कि वह चोरी के गहनों को ज्वैलर के पास यह कहकर गिरवी रख देती थी कि उसके घर में किसी को कैंसर है और इलाज के लिए कैश चाहिए। वह मूल रूप से कोलकाता की है। वह बहुत अच्छा गाती है। कुछ समय तक उसने मुंबई में काम की तलाश की। बाद में वह बेंगलुरु में एक आर्केस्ट्रा टीम से जुड़ गई और वहां के एक बार में काम करने लगी। वह चोरी के लिए फ्लाइट से आती थी और चोरी के बाद फ्लाइट् से ही वापस लौट जाती थी। क्राइम ब्रांच के एक अधिकारी के अनुसार, मुनमुन हुसैन ने अपने अर्चना बरुआ और निकी आदि उपनाम भी रख रखे थे।

Post a comment

0 Comments