न कोई बैनर,न व्यक्ति विशेष का नाम, कोरोना आपदा में निभा रहे सामाजिक दायित्व

देखा गया

गुप्त दान के ज़रिए प्रतिदिन 1200 ज़रूरतमंद लोगों तक पहुँचाया जा रहा है भोजन



हिमा अग्रवाल


जयपुर- 18अप्रैल। जब-जब भी देश व समाज पर कोई विपत्ति आती है तो उससे निपटने के लिए समाज के सभी वर्गों की सहभागिता ज़रूरी होती है। सक्षम समाज ही कुछ करने में सक्षम होता है। यह बात आज कोरोना वायरस से उत्पन्न आपदा के समय कंवर नगर स्थित झूलेलाल मंदिर में देखने को मिली जहाँ पिछले 25 दिनों से लगातार प्रतिदिन 1200 लोगों का खाना तैयार किया जा रहा है।
  यहाँ की व्यवस्था सँभाल रहे समाजसेवी घनश्याम मुलानी ने बताया कि यह कार्य नरेंद्र असनानी और सागर करमचंदानी ने शुरू किया और आज इस पुण्य कार्य से कई लोग अपने-आप जुड़ते चले गए।



 मुलानी ने बताया कि भोजन के साथ-साथ ज़रूरतमंदों को सूखा राशन भी उपलब्ध करवाया जा रहा है।
सबसे दिलचस्प बात यह है कि यहाँ न किसी संस्था का बैनर लगा है और न ही किसी दानदाता का नाम बताया जा रहा है। सब गुप्त दान कर रहे हैं।इतना ही नहीं, राशन लेने वालों का भी नाम नहीं लिखा जा रहा है। यहाँ मानव सेवा को ही सर्वोपरि रखा गया है।


Post a comment

0 Comments