कोरोना महामारी पर भारी, अवैध शराब की कालाबाजारी

देखा गया
विशेष संवाददाता-मदन कोथुनियां


      चाकसू-- ध्यान देने की बात यह है कि लॉकडाउन पीरियड के कारण शराब की बिक्री पर लगी रोक से एक और बड़ी समस्या उभर रही है। बहुत सारी जगहों पर प्रतिबंध के बावजूद कुछ ठेकेदार शराब को मुंहमांगे दामों पर बेच रहे हैं। सरकार भले ही आँखें मूँदकर बैठी रहे मगर जनता जानती है कि उनके इलाक़े में कौन-कौन शराब अवैध ढंग से मुहैया करवा रहा है।


           इसके अलावा बहुत सारे लोगों ने घर पर देशी शराब निकालना शुरू कर दिया है। घर पर निकाली अवैध शराब लोगों का कितना नुक़सान कर सकती है, यह कल्पना से भी परे है। दरअसल, जो शराब ठेकों में बिकती है, वह किसी भी ब्रैड की क्यों न हो, उसमें एल्कॉहल की मात्रा तय मानकों के अनुरूप होती है। साथ ही वह इथनॉल ही होती है जबकि घर पर या अवैध ढंग से निकाली गई शराब में मीथेनॉल (ज़हरीला अल्कॉहल) की मात्रा अधिक हो जाती है। यह ज़हरीली शराब किडनी, लिवर, ब्रेन और अन्य अंगों को तुरंत नुक़सान पहुँचाती है। अगर मौत न भी हो तो अंधे होने से लेकर शरीर में कई तरह की स्थायी समस्याएँ हो जाती हैं।


           वैध शराब की बिक्री बंद होने से प्रदेश में अवैध या मिलावट वाली ज़हरीली शराब की खपत बढ़ेगी, इससे इनकार नहीं किया जा सकता। साथ ही कुछ लोग जो कालाबाज़ारी में लगे हैं, उससे सरकार को राजस्व का नुक़सान अलग से हो रहा है। इसलिए, सरकार को अपने फैसले पर एक बार फिर विचार करना चाहिए। इसलिए ज़रूरी है कि संकट के इस दौर में नैतिकता को छोड़ व्यावहारिकता अपनाई जाए।
           चाकसू थाना पुलिस ने बुधवार को बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए हतकढ़ शराब बनाने में काम आने वाली 5000 लीटर वाश को नष्ट कर दिया। थानाधिकारी ब्रजमोहन कविया ने जानकारी देते हुए बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि भादीपुरा गांव में नदी के अंदर हतकढ़ शराब बनाई जा रही है। इस पर पुलिस टीम मौके पर पहुँची तो वहाँ शराब बनाने के काम मे ली जा रही 15 भट्टियां मिली। टीम ने कड़ी मेहनत करते हुए सभी भट्टियों को नेस्तनाबूद कर दिया और मौके पर मौजूद हतकढ़ शराब बनाने के काम आने वाली 5000 लीटर वाश को नष्ट कर दिया।


           कविया ने बताया कि लॉक डाउन के चलते शराब की सरकारी दुकाने बंद है ऐसे में देशी हतकढ़ शराब का धंधा जोरो पर चल रहा है। पुलिस हतकढ़ शराब के खिलाफ आगे भी ऐसी कार्रवाई करती रहेगी। कार्रवाई के दौरान थानाधिकारी ब्रजमोहन कविया, सन्तोषदास, रामचंद्र, बहादुर, श्रवण लाल सहित पूरा थाना स्टॉफ मौजूद रहा।

Post a comment

0 Comments