जयपुर व टोंक जैसे कोरोना हॉटस्पॉट जिलों के बीच बसे इस कस्बे में कोरोना की जंग में मुस्तैद हैं एसडीएम ओपी सहारण

देखा गया

परिवार के साथ मिलकर लड़ रहे हैं कोरोना के खिलाफ़ जंग


चाकसू/फकरुद्दीन खान ✍🏻

           विश्वव्यापी कोरोना वायरस जैसी महामारी के चलते जहां हर जिम्मेदार नागरिक सतर्कता बरतते हुए नजर आ रहा है, वहीं कोरोना की जंग के खिलाफ जिम्मेदार महकमे व उनके पदाधिकारी एवं कर्मचारी पूर्ण जिम्मेदारी के साथ मैदान में डटकर कोरोना को मात देते हुए नजर आ रहे है। यही वजह है कि जयपुर व टोंक जैसे कोरोना हॉटस्पॉट जिलों के बीच बसा हुआ चाकसू उपखंड क्षेत्र कोरोना के खिलाफ जंग जीतता हुआ नजर आ रहा है।
           कोरोना वायरस के संक्रमण को महामारी घोषित किये जाने पर कोरोना ( कोविड - 19 ) के फैलाव को रोकने हेतु सम्पूर्ण राजस्थान मे लॉकडाउन किया गया है , जिसके लिये जिला कार्यालय से वैश्विक महामारी व आपदा के समय उपखण्ड अधिकारी चाकसू ओपी सहारण परिवार के स्वास्थ्य की चिंता किये बगैर पिछले 50 दिनो से लगातार प्रतिदिन कोरोना बचाव व लॉकडाउन की पालना हेतु क्षेत्र के लोगो के नियमित स्वास्थय परीक्षण, जरूरतमंदो को भोजन उपलब्ध करवाना, आवश्यक वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति व वितरण को सूचारू रखने आदि की असंख्य जिम्मेदारियो का निर्वहन करने के लिये पूर्ण निष्ठा से दिन-रात यंत्रवत कार्य कर रहे हैं।


           समय - समय पर प्रशासन व पुलिस द्वारा धारा 144 दण्ड प्रक्रिया संहिता की पालना करवायी जा रही है। उपखण्ड क्षेत्र मे प्रत्येक व्यक्ति की समस्या का समाधान किया जावे इसके लिए कन्ट्रोल रूम की स्थापना की गई तथा साथ ही तहसील कार्यालयो / पंचायत समिति / नगरपालिका चाकसू मे भी कन्ट्रोल रूम की स्थापना की गई। कोरोना की जानकारी व बचाव हेतु ग्रामीण क्षेत्र में प्रत्येक ग्राम पंचायत के प्रत्येक गाँव-ढाणी मे व शहरी क्षेत्र के प्रत्येक वार्ड मे व्यापक प्रचार - प्रसार करवाया गया।
           उपखण्ड क्षेत्र चाकसू के प्रत्येक व्यक्ति को कोरोना से बचाव हेतु 103200 मास्क,  20720 साबुन,  4610 सैनेटाईजर उपलब्ध करवाये गए। उपखण्ड में कोई भी नागरिक भूखा न सोये,  जरूरतमंदो को भोजन व राशन किट मिले तथा पेयजल व आवश्यक वस्तुओ की निर्बाध आपूर्ति व वितरण हेतु तहसीलदार / विकास अधिकारी / अधिशाषी अधिकारी नगरपालिका / पटवारी / बी.एल.ओ. से सर्वे करवाकर ऐसे परिवारों को चिन्हित किया जाकर उनके भोजन की व्यवस्था हेतु भामाशाहो को प्रेरित किया जाकर उनके सहयोग से अब तक 98143 तैयार भोजन व 2869 सुखी सामग्री के पैकेट जिला कार्यालय से व 2220 पैकेट भामाशाहो से जरूरतमंदो को उपलब्ध करवाये गए।


           उपखण्ड क्षेत्र मे लॉकडाउन की पालना करवाने हेतु कुल 12 सैक्टर अधिकारियो की नियुक्ति की गई। उपखण्ड क्षेत्र मे लॉकडाउन की पालना गतिविधियो की नजर रखने हेतु बाहर से आ चुके कुल 431 व 50 लोकल व्यक्तियो को होम आइसोलेट / क्वारंटाइन किया गया जिसमे अब तक कुल 291 व्यक्तियो को क्वारंटाइन से मुक्त किया गया तथा कुल 190 व्यक्ति वर्तमान मे होम क्वारंटाइन किये हुये है। जिनकी निगरानी रखते हुये समय - समय पर चिकित्सा विभाग टीम द्वारा जॉच कर प्रभावी मॉनिटरिगं हेतु प्रत्येक ग्राम पंचायत मे कोर ग्रुप कमेटी का गठन किया गया।
           कोरोना से बचाव हेतु उपखण्ड क्षेत्र चाकसू के प्रत्येक दुकानदार को निर्देशित किया गया है कि सभी दुकानदार मास्क का उपयोग करे तथा बिना मास्क के आने वाले व्यक्ति को सामान नही देवे एवं दुकान के बाहर सोशल डिस्टेंशिग का पालन करने हेतु उचित दूरी पर गोले बनावे। चाकसू उपखण्ड मे ई - बाजार सेवा शुरू की गई जिसकी जानकारी आमजन तक पहुंचे इसके लिए 1500 पम्पलेट छपवाकर व्यापक प्रचार - प्रसार करवाया गया।
           उपखण्ड क्षेत्र में प्रवासी श्रमिको को रोकने हेतु शीतला माता चाकसू मे शेल्टर हाउस की स्थापना की गई , जिसमे प्रवासी श्रमिको को ठहराकर उनकी खाने - पीने की पूर्ण व्यवस्था करवाई गई। उपखण्ड क्षेत्र मे आइसोलेशन करवाने हेतु चार स्थानो पर आईसोलेशन सेन्टर बनाये गये। उपखण्ड क्षेत्र मे फंसे हुये प्रवासी श्रमिको को उनके गृह राज्य व जिले मे भेजने हेतु तहसीलदार / विकास अधिकारी / नगरपालिका चाकसू से रिपोर्ट ली जाकर उनको चिन्हित कर उनका ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन करवाया गया। उपखण्ड क्षेत्र मे अतिआवश्यक सेवाओ हेतु पासेज जारी किये गये। उपखण्ड क्षेत्र मे लोगो को जागरूक कर 117 राज कोविड इन्फो एप्प व 117 आरोग्य सेतु एप्प डाउनलोड करवाये गये। उपखण्ड क्षेत्र में एक्स ग्रेसिया पेमेन्ट का नगरपालिका क्षेत्र मे केटेगरी 3 ( स्ट्रीट वेन्डर ) 77 व केटेगरी 4 ( अन्य श्रमिक , रिक्शा चालक , असहाय गरीब ) 16 व्यक्तियो को चिन्हित कर उनको जिला कार्यालय से सहायता दिलवाई गई व ग्रामीण क्षेत्र मे केटेगरी 3 ( स्ट्रीट वेन्डर ) व 4 ( अन्य श्रमिक , रिक्शा चालक , असहाय गरीब ) के कुल 326 व्यक्तियो को चिन्हित कर उनको जिला कार्यालय से सहायता दिलवाई गई।
           उपखण्ड क्षेत्र मे माह अप्रेल का सम्पूर्ण गेंहूं वितरण किया जा चुका है तथा माह मई हेतु बंटने वाला गेहूँ वितरण स्थलो तक पहूँच चुका है, जिसमे से माह मई का 90 प्रतिशत वितरण हो चुका है।
           उपखण्ड क्षेत्र मे बेरोजगार व्यक्तियो को व्यवसाय के लिये कही जाने की आवश्यकता नही हो इसके लिये उनके क्षेत्र में ही मनरेगा कार्य चालू करवाये ताकि उनको अपने क्षेत्र में रोजगार प्राप्त हो सके। इसके लिये कुल 2280 व्यक्तियो को मनरेगा के तहत कार्य दिया जा चुका है। दिनांक 05 . 05 . 20 को 28 नये कार्य स्वीकृत किये है , जिसमे बढकर लगभग 4000 श्रमिक नियोजित कर लिये जायेंगे।
           उपखण्ड क्षेत्र के प्रत्येक व्यक्ति की ब्लॉक मुख्य चिकित्साधिकारी के द्वारा घर - घर जाकर अब तक कुल 238677 व्यक्तियो की स्कैनिंग
की गई । उपखण्ड क्षेत्र की सीमा मे समस्त आने जाने वाले व्यक्तियो का रिकार्ड संधारण करवाने व बाहर से आने वाले व्यक्तियो की जानकारी जुटाने हेतु उपखण्ड क्षेत्र की सीमा पर अलग - अलग जगह 6 चैक पोस्ट बनाये गये। चैक पोस्ट द्वारा एवं ग्राम पंचायत कोर ग्रुप कमेटी के द्वारा सूचना प्राप्त होने पर तुरन्त मेडिकल टीम भिजवाकर जाँच करवाकर होम क्वारंटाइन करवाया जा रहा है।
           उच्चाधिकारियो व मीडिया को रोजाना की प्रगति रिपोर्ट ब्रीफ करना, 20 मार्च के बाद औसत 100 कॉल प्रतिदिन रिसीव करना व संवेदनशीलता से रिप्लाई भी देना, कोरोना से बचाव हेतु बनाये गए प्रति उपखण्ड 60 से ज्यादा व्हाट्सएप्प ग्रुप मे मेंबर बनाना, सभी मैसेज को पढना व उनका समाधान करना, उक्त समस्त कार्यों का व्यक्तिगत जिम्मेदारी , उत्तरदायीपूर्ण, संवेदनशीलता व गंभीरता के साथ निभाने की कोशिश है। वैसे भी जब कोरोना के प्रकोप से लोग घरो से बाहर निकलने से भी घबरा रहे है वही इतने सारे कार्य, जिम्मेदारियो के साथ निभाने का प्रयास जारी है।

Post a comment

0 Comments