मंत्री की पत्नी का पसीजा दिल, नंगे पाँव आ रहे श्रमिकों को पहनाईं चरण पादुकाएं

देखा गया

पैदल आ रहे प्रवासी श्रमिकों के लिए की वाहनों की व्यवस्था



विशेष संवाददाता: हरीश शर्मा ✍🏻


बारां 14 मई। अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन  बारां जिला द्वारा लगातार जारी मानव सेवा के कार्यक्रम के तहत हरियाणा, गुजरात, नागौर, पानीपत आदि क्षेत्रों से पैदल आ रहे हैं।सैकड़ों की संख्या में मजदूर परिवारों को गर्मी के भीषण मौसम मे उनके पैरों के छालों को देखते हुए अपनें हाथों से चप्पल पहनाई वहीं उन्हें रास्ते के लिए ग्लूकोस, साबुन, बिस्किट, मास्क आदि प्रदान किए गए।



इस अवसर पर अंतरराष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन की प्रदेश उपाध्यक्ष उर्मिला जैन भाया, जिलाध्यक्ष ललितमोहन खंडेलवाल, महिला जिला अध्यक्ष  मंजू गर्ग, युवा अध्यक्ष पीयूष गर्ग, जिला महामंत्री सुरेश गोयल, महिला संयोजिका सुधा मारू, शशि गर्ग, जिला महामंत्री शिल्पा ठाकुरिया, आशा विजय उपस्थित रहे। राष्ट्रीय राजमार्ग 27 पर पैदल चल रहे कई परिवारों को उर्मिला जैन भाया ने व्यवस्था करवा कर उन्हें वाहनों से राजस्थान की सीमा तक रवाना किया। उस वक्त कई मजदूर परिवारों की आंखों में आंसू छलक आए जब उन्हें लंबी पैदल यात्रा से छुटकारा मिला और बारां में भाया के प्रयासों से उन्हें वाहनों की व्यवस्था करवा कर प्रदेश की सीमा तक पहुंचाने का मानवीय कार्य किया गया। वैश्य महासम्मेलन ने कोरोना वायरस की रोकथाम की दिशा में सबसे पहले सावचेती कदम उठाते हुए 25 हजार से अधिक जागरूकता पम्पलेट तथा मास्क वितरण का कार्य शहर में आरम्भ किया था। इसी दौरान वैश्य समाज से जुडे सभी समाजों ने अपने-अपने समाजों के जरूरतमंद परिवारों को समाज की ओर से खा़द्यान्न सामग्री उपलब्ध करवाने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई तथा 300 खाद्यान्न किट जरूरतमंदों को उपलब्ध करवाए। वैश्य महिला सम्मेलन द्वारा भी लगातार जरूरतमंदों के लिए सेवा कार्य जारी है जिसमें खाने के पैकेट वितरण, मास्क वितरण भी शामिल है।

Post a comment

1 Comments