कोई भी भूखा न हो विदा, धर्मादा संस्था ने एनएच-27 पर शुरू की प्रवासी श्रमिकों के लिए भोजनशाला

देखा गया

जिले से कोई नही जाएगा भूखा


विशेष संवाददाता: हरीश शर्मा ✍🏻

बारां 16 मई। सामाजिक सरोकार में अग्रणी, जन्म से लेकर मृत्यु तक शहर के जन-जन की सेवा में तत्पर सार्वजनिक संस्था धर्मादा बारां ने कोरोना वायरस लॅाकडाउन के दौरान काफी लंबी सेवाओं का सिलसिला जारी रखते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग-27 से होकर गुजर रहे प्रवासी श्रमिकों के लिए शहर के निकट भूल भूलैया चैराहे पर भोजनशाला प्रारंभ की है। शनिवार को पहले दिन 300 से अधिक प्रवासी श्रमिकों ने भोजन ग्रहण किया।


अध्यक्ष विमल कुमार बंसल, मंत्री छीतरलाल नागर, कोषाध्यक्ष दिनेश बंसल,  व्यापार संघ अध्यक्ष हेमराज गोयल, धानमण्डी व्यापार संघ अध्यक्ष देवकीनंदन बंसल, सतीश ठाकुरिया, राजेन्द्र जैन, अशोक बोरडिया, दीप पतीरा, भारत जैन, जितेन्द्र नागर, महासंघ अध्यक्ष ललितमोहन खंडेलवाल ने बताया कि संस्था धर्मादा इस सेवा को तब तक जारी रखेगी जब तक राष्ट्रीय राजमार्ग से प्रवासी श्रमिकों का गुजरना जारी रहेगा।

धर्मादा पदाधिकारियों ने संकल्प व्यक्त करते हुए कहा कि अन्नपूर्णा धरती से कोई भी प्रवासी श्रमिक या उसका परिवार बिना भोजन के नही गुजरेगा।

Post a comment

0 Comments