Twitter पर ट्रेंड हुआ - आखिर_कब_होगी_जॉइनिंग रेलवे सहायक लोको पायलट व तकनीशियन के कुल 64371 पदों के लिए देश भर में हुई थी परीक्षा

देखा गया
तेजू गोदारा ने उठाई माँग-- रेलवे भर्ती पूरी करे सरकार



By Desk ✍🏻



देश के विभिन्न रेलवे भर्ती बोर्ड(RRB) के द्वारा जारी भर्ती प्रक्रिया में फ़रवरी 2018 में CEN 1/2018  असिस्टेंट लोको पायलट और टेक्नीशियन की 64371 रिक्तियां आई थी,
जिसकी परीक्षा को पूरे देश के लगभग 37 लाख विद्यार्थियों ने परीक्षा देकर निम्न चरणों के माध्यम से पूरा किया।
इनमे देश के सभी रेलवे भर्ती बोर्ड के द्वारा प्रथम चरण परीक्षा अगस्त 2018 में द्वितीय चरण परीक्षा जनवरी 2019 तृतीय चरण परीक्षा मई 2019 में परीक्षाएं सफलता पूर्वक आयोजित करवाई गई थी|
उसके बाद चिकित्सा परीक्षण और दस्तावेज परीक्षण कुछ छात्रों का जुलाई 2019 में पूरा हो गया था।


इसके उपरान्त सभी रेलवे बोर्ड के द्वारा इस पदों पर नियुक्ति के लिए पैनल लिस्ट  समय समय पर जारी भी किये गये | पैनल का काम भी 2019 के अन्त में कुछ बोर्ड को छोड़कर शेष रेलवे बोर्डो ने लगभग पूर्ण कर लिया था,लेकिन अब समस्या यह है कि मेडिकल और वेरिफिकेशन और पैनल लिस्टों के आने के लगभग 10 महीने बीत जाने के बाद भी अभ्यर्थी आज तक बेरोजगार बन कर घरों में बैठे हुए है।

इन सब के अलावा अगस्त 2019 में (दीपावली से लगभग 2 महीने पहले) एक समाचार-पत्र में यह खबर छपी थी कि अगले दो महीने यानि दीपावाली से पहले सभी अभ्यर्थियों को इन पदों पर नियुक्ति का तोहफा मिल जाएगा।
लेकिन इस घोषणा के बाद दीपावली के निकल जाने के बाद भी 2019 का पूरा साल इंतजार में गुजर गया।
 इसी बीच एक दूसरे हिंदी दैनिक अखबार में खबर के ज़रिए भर्ती बोर्ड द्वारा सभी प्रदेश वासियों को बता दिया गया था कि हमने रेलवे लोको पायलट और टेक्नीशियन की भर्ती प्रक्रिया पूरी कर ली, जब की हकीकत ये है कि अभी तक भी उन अभ्यर्थियों की नियुक्ति नहीं हुई और न ही किसी भी रेलवे भर्ती बोर्ड या DRM कार्यालय से अभ्यर्थियों की नियुक्ति पत्र के बारे कुछ सूचना मिल पा रही है।



अभ्यर्थियों ने जब भी किसी कार्यालय से संपर्क करने की कोशिश की। तो उन्हें कोरोनावायरस से पूर्व तो "काम चल रहा है।"  और अब Lock Down का बहाना दे दिया जाता है।
उन्हें अब ये भी पता नहीं है कि उनका डिवीजन अलॉटमेंट भी हुआ है या नहीं।
ये सब होने के बाद रेलवे भर्ती बोर्ड के द्वारा सत्र 2018,और 2019 में और भी कई पदों पर रिक्तियां आई और उन्हें लगभग पूरा भी कर लिया गया था।
2018-19 में आने वाली अन्य रिक्तियां रेलवे ग्रुप - D, पैरामेडिकल स्टाफ, जूनियर इंजीनियर, रेलवे RPF कांस्टेबल, रेलवे RPF SI (सब इंस्पेक्टर), रेलवे RPF MTS ये सब रिक्तियों के लगभग सभी पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया पूरी कर दी गई है।

लेकिन अभी भी लोको पायलट और टेक्नीशियन के अधिकतर अभ्यर्थियों को नियुक्ति-पत्र का इंतजार है।

उन सभी अभ्यर्थियों ने लोको पायलट और टेक्नीशियन की  तीन - तीन चरणों की परीक्षा को पूरा करने के बाद, मेडिकल परीक्षाएं पास की है।और इस भर्ती प्रक्रिया को चलते लगभग ढाई साल हो गए।
उसके बाद नतीजा क्या मिला ? "नियुक्ति के लिए सिर्फ लंबा इंतजार...

जबकि इस लॉक डाउन में भी JE (जूनियर इंजीनियर) वालो को कॉल लेटर भेजे जा रहे है।जबकि उन्हें लॉक डाउन का बहाना बताकर हमेशा आगे खिसका दिया जाता है।
ये खिलवाड़ सिर्फ उन अभ्यर्थियों के साथ ही क्यों

अब उनके सामने सबसे बड़ी समस्या,आर्थिक समस्या,दूसरा मानसिक प्रताड़ना,तीसरी घरवालों,रिश्तेदारों को कैसे समझाए। वे उन्हें हर रोज मानसिक रूप से प्रताड़ित करते है।

क्योंकि उन की नजर में रेलवे भर्ती बोर्ड ने भर्ती प्रक्रिया ही पूरी कर ली,तो फिर उनकी नियुक्ति अभी तक क्यों नहीं हुई।

तेजू गोदारा ने कहा कि केंद्र सरकार और माननीय रेलमंत्री पीयूष गोयल से विनम्र आग्रह है कि उन अभ्यर्थियों की नियुक्ति प्रक्रिया में आ रही समस्या को दूर करते हुऐ उन्हें जल्द ही नियुक्ति देकर न्याय दिलानें का कष्ट करें । हजारों परिवारो की खुशियां इस समय आप के हाथो में है। देश के चयनित युवाओ को जॉइनिंग का बेसब्री से इंतजार है| मंत्री #PiyushGoyal  से निवेदन है कि मामले को संज्ञान में रखते हुए इस कार्य को प्राथमिकता के साथ पूर्ण करावे जिससे  हजारो अभ्यर्थियों के परिवारों को खुशियां मिल सके।

Post a comment

0 Comments