कोरोना शहीदों को श्रद्धांजलि देकर सादगीपूर्वक मनाया गया नर्सेज दिवस

देखा गया

-जी-जान से सेवा में जुटे नर्सिंगकर्मियों का हुआ सम्मान

राज्य सरकार से समान पदनाम की पूरी आस-- विनीता शेखावत


By Desk ✍️



जयपुर-12 मई। आज विश्व नर्सेज दिवस पूरे प्रदेश में सादगीपूर्ण तरीके से मनाया गया।

  इसी कड़ी में प्रदेश की राजधानी जयपुर में भी चिकित्सा से जुड़ी विभिन्न संस्थाओं, अस्पतालों में स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा नर्सेज दिवस मनाया गया।

ऑल कैडर नर्सेज समन्वय समिति की अध्यक्ष विनीता शेखावत ने बताया कि सुबह राजस्थान नर्सिंग काउंसिल में चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा  द्वारा फ्लोरेंस नाइटेंगल के चित्र पर पुष्प अर्पित किए गए।



जनाना अस्पताल में भी नर्सेज सेवा की शुरुआत करने वाली विश्व की पहली महिला फ्लोरेंस नाइटेंगल के जन्मदिवस पर उन्हें पुष्पांजलि देकर याद किया गया।

 जनाना अस्पताल की अधीक्षक डॉ पुष्पा नागर और नर्सिंग अधीक्षक जॉइस फर्नांडिस मेहता एवं समस्त नर्सेज स्टाफ ने  कोरोना ड्यूटी के दौरान  इलाज करते हुए अपनी जान गँवाने वाले कोरोना शहीदों को 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी।


अस्पताल के  सभी वार्ड में मरीजों को फल वितरित किए गए।
 इस मौके पर जनाना अस्पताल के रमेश शर्मा,सारिका शर्मा,बबीता महान, पूनम,सीमा शर्मा  एवं अन्य नर्सिंग कर्मी मौजूद रहे।


जनाना अस्पताल की समन्वय समिति की अध्यक्ष व स्वास्थ्यकर्मी विनीता शेखावत का एसीपी द्वारा हुआ सम्मान


नर्सेज दिवस पर वैश्विक महामारी संकट में फ्रंट लाइन पर सेवा कर रहे नर्सिंगकर्मियों को विभिन्न संस्थाओं द्वारा सम्मानित कर उनका आभार जताया गया।


नर्सिंगकर्मियों की समस्याओं के समाधान के लिए हरदम  तत्पर रहने वाली राजस्थान राज्य नर्सेज एसोसिएशन की प्रदेश संयोजक विनीता शेखावत को उनकी विशिष्ट सेवाओं के लिए पुलिस एसीपी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ एवं EWCS संस्था और इंटक के प्रदेशाध्यक्ष संजय सिंह शेखावत  द्वारा कोरोना योद्धा के रूप में शॉल मोमेंटो भेंट कर व पुष्प वर्षा कर सम्मानित किया गया। इसके साथ ही नर्स पूनम भाटी को भी सम्मानित किया गया।

 विनीता शेखावत लॉकडाउन के दौरान व्यक्तिगत स्तर पर रोज़ कच्ची बस्ती में खाने के पैकेट भी बँटवा रही हैं।

राज्य सरकार से समान पदनाम की पूरी आस



मीडिया से बातचीत में विनीता शेखावत ने कहा कि नर्सेज दिवस पर उन्हें उम्मीद है कि उनके द्वारा उठाई गई  केंद्र के समान पदनाम की माँग को  राज्य सरकार से शीघ्र मँजूरी मिल जाएगी। हमारे द्वारा इसके लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं।


Post a comment

0 Comments