नहीं रहे मजदूरों के हक़ मे बुलंद आवाज़ उठाने वाले रामनाथ सिंह

देखा गया
-- जेल में मृत्यु    

-- BMS को षडयंत्र की आशंका



By Desk ✍🏻



  जोधपुर-18 मई 2020। पाली क्षेत्र के मजदूर मसीहा और भारतीय मजदूर संघ के जुझारू नेता  रामनाथ सिंह का जेल में अचानक तबियत बिगड़ने से निधन हो गया। वे पाली मिल के मजदूरों के हक के लिए लड़ाई रहे थे।


 मिल मजदूरों द्वारा पिछले 3 मार्च से वेतन को लेकर आंदोलन किया जा रहा है वही मिल मालिकों द्वारा वेतन भुगतान नहीं देने पर दिनांक 13 मार्च को मजदूर नेता रामनाथ सिंह के नेतृत्व में आंदोलन हुआ जिस को कुचलने के लिए मिल मालिकों व पुलिस प्रशासन ने 100 से अधिक लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया। जेल में सोमवार को रामनाथ सिंह की सवेरे तबीयत गड़बड़ होने पर उन्हें अस्पताल भर्ती कराया गया जहाँ उन्होंने अंतिम साँस ली।
भारतीय मजदूर संघ ने इसके पीछे किसी बड़े षड्यंत्र की आशंका व्यक्त की है। समर्थ मिल मालिक इस षड्यंत्र में लिप्त हो सकते हैं। संगठन ने प्रशासन से इस पूरे घटनाक्रम की जांच की मांग की है तथा  मजदूर को अपने वेतन हेतु लड़ने के लिए किए गए आंदोलन एवं रामनाथ सिंह के  परिवार को उचित मुआवजा देने तथा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की भी मांग उठाई है।वहीं संगठन ने दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की भी मांग की।

Post a comment

0 Comments