नाबालिग को भगाकर ले जाने वाले इनामी बदमाश को सी.एस.टी. ने किया दस्तयाब

देखा गया

फरारी के दौरान मुम्बई में करने लगा था फिल्म निर्माण का काम




जयपुर। सी.एस.टी. टीम ने बडी कार्यवाही करते हुए नौ साल से फरार चल रहे ईनामी बदमाश को पकडने में सफलता हासिल की है। नाबालिग को भगाकर ले जाने सहित अन्य मामलो में वांछित चल रहा ईनामी बदमाश फरारी के दौरान मुम्बई चला गया और वहॉ जाकर फिल्म निर्माताओं के साथ फिल्म निर्माण का कार्य करने लगा।


अतिरिक्त पुलिस आयुक्त  जयपुर अशोक गुप्ता ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान वांछित अपराधियों की धरपकड हेतु योगेश यादव पुलिस उपायुक्त  अपराध , राजीव पचार पुलिस उपायुक्त  उत्तर एवं विमल सिंह अति. पुलिस उपायुक्त के निर्देशन में लखन सिंह खटाणा, सुरेन्द्र यादव पुलिस निरीक्षक, महेन्द्र सिंह उप निरीक्षक के नेतृत्व में आयुक्तालय जयपुर में वांछित अभियुक्तो की दस्तयाबी हेतु
अलग अलग टीमो का गठन किया गया । सी.एस.टी. आयुक्तालय जयपुर में पुरूषोतम सउनि, मानसिंह हैड कानि को मिली विश्वस्त सूचना पर एक टीम
 पुरूषोतम सउनि, मानसिंह हैड कानि., सतीश कुमार कानि चालक की वांछित ईनामी अभियुक्त की दस्तयाबी हेतु गठित की गई ।
 गठित टीम द्वारा जयपुर शहर में संभावित स्थानों पर लगातार तलाश की गई तो आरोपी के जयपुर में होने का पता लगा। जिस पर आरोपी राहुल कुमार सैनी पुत्र घासीराम सैनी उम्र 32 साल निवासी मउ की ढाणी डालियावास रोड श्रीमाधोपुर
जिला सीकर हाल निवासी प्लॉट नं. 34, सर्यू नगर तारो की कूट टोंक रोड़ सांगानेर जयपुर
 को गठित टीम द्वारा दस्तयाब किया गया। अभियुक्त  राहुल को थानाधिकारी पुलिस थाना झोटवाडा विक्रमसिंह पुलिस निरीक्षक द्वारा  प्रकरण में गिरफ्तार किया गया।
आरोपी राहुल के विरुद्ध झोटवाडा थाने में वर्ष 2011 में नाबालिग लडकी को भगा कर
ले जाने का मामला दर्ज हुआ था। जिसके बाद आरोपी फरार हो गया था। 
आरोपी की गिरफ्तारी व सूचना देने पर वर्ष 2016 में पुलिस उपायुक्त  जयपुर पश्चिम
के द्वारा 1000 रूपये के ईनाम की घोषणा की गई थी। आरोपी राहुल झोटवाडा सहित करघनी थाने के प्रकरणो में भी वांछित चल रहा था। फरारी के दौरान आरोपी मुम्बई चला गया और वहॉ फिल्म निर्माताओं के साथ फिल्म निर्माण का कार्य करने लगा।
लॉकडाउन के दौरान उसके जयपुर आने की सूचना पर पुलिस टीम की सर्तकता से आरोपी को पकड़ने में सफलता मिली। बता दे कि सी.एस.टी. टीम द्वारा जयपुर में लॉकडाउन के दौरान ईनामी अपराधी को पकडने की यह सातवीं कार्यवाही है।

Post a comment

0 Comments