Jhalawar News-लॉकडाउन के दौरान बन्द गर्ल्स हॉस्टल को चोरों ने बनाया निशाना,मेडिकल कॉलेज की सुरक्षा व्यवस्था पर अभिभावकों ने खड़े किये सवाल

देखा गया

बालिकाओं की सुरक्षा एक गार्ड के भरोसे


हॉस्टल के पीछे लगी लाइट्स रहती हैं बन्द



संवाददाता-हरिमोहन चोडॉवत ✍🏻


झालावाड़(राजस्थान)-6 दिसंबर। जैसा कि विदित है कि लगभग पाँच महीने पहले सम्पूर्ण देश मे लॉकडाउन होने के कारण सभी शिक्षण संस्थाएँ व इनके हॉस्टल भी बन्द हो गए थे और छात्र-छात्राएं अपने-अपने गृहक्षेत्र चले गए थे। लेकिन हाल ही प्रदेश सरकार ने मेडिकल कॉलेज के विद्यार्थियों को ड्यूटी जॉइन करने के निर्देश जारी किए हैं। इसी के चलते झालावाड़ के मेडिकल कॉलेज की छात्राएँ गर्ल्स हॉस्टल लौटीं और कमरे के ताले खोले तो सामान बिखरा हुआ पाया। खिड़कियों के दरवाजे कटे मिले। चोरों ने बड़ी सफाई से चोरी की वारदात को अंजाम दिया जिसका  वहाँ मौज़ूद गार्ड को भी पता नहीं चला। 



 प्राप्त जानकारी के अनुसार हॉस्टल में 150 कमरे हैं। प्रत्येक कमरे में 2 छात्राएँ रहती हैं। इनकी सुरक्षा के लिए केवल एक गार्ड तैनात है। इतना ही नहीं सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस हॉस्टल के पीछे लगी लाइट्स कई दिनों से ख़राब होने के कारण बन्द पड़ी हैं, जिसका चोरों ने भरपूर फायदा उठाकर हाथ साफ किये।


अभिभावकों में रोष

 इस घटना पर छात्राओं के अभिभावकों में गहरा रोष है और उन्होंने मेडिकल कॉलेज प्रशासन दारा की गई सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं।उनका कहना है कि अभी तो सामान चोरी हुआ है लेकिन हमारी बच्चियाँ यहाँ अकेली रहती हैं, यदि कल उनके साथ कोई अप्रिय घटना हो गई तो उसका ज़िम्मेदार कौन होगा। उनका कहना था कि इतने बड़े मेडिकल कॉलेज में भी सुरक्षा के कोई पुख्ता इंतजाम नहीं हैं।


चोरी हुआ सामान-

 जाँच में अभी तक 10 कमरों में चोरी की बात सामने आई है। चोरी गए सामान में लैपटॉप, माइक्रोवेव, दो हाथ घड़ी, कपड़े व लगभग 5 हज़ार नकदी शामिल है। 


इस पूरे घटनाक्रम के बारे में जब कॉलेज के डीन डॉ दीपक गुप्ता से बात की गई तो उन्होंने कहा कि इस बारे में एसपी को अवगत करवा दिया है। हमने अपने स्तर पर रिपोर्ट करवा दी है और अभिभावकों को भी व्यक्तिगत तौर पर रिपोर्ट दर्ज़ करवाने को कहा है। इसके साथ ही पीछे की दीवार ऊँची करने का प्रस्ताव भेजेंगे।

Post a comment

0 Comments